महामारी के दौरान शिशुओं और बच्चों के स्वास्थ्य और हाइजीन दिनचर्या में शामिल करने वाली ज़रूरी बातें

0
143

कोविड-19 महामारी ने हमें सिखाया है कि अच्छे स्वास्थ्य से ज़्यादा ज़रूरी कुछ भी नहीं है।

सामाजिक दूरी और घर में क्वारंटाइन के समय, अपने शिशु या बच्चा को सुरक्षित और स्वस्थ रखने के लिए इन स्वास्थ्य और हाइजीन रूटीन का पालन करें।

  1. स्तनपान कराना

इस महामारी के दौरान स्तनपान आपकी सबसे बड़ी ताकत है। अगर आप स्तनपान करा रहे हैं तो अपने दिनचर्या में किसी भी चीज़ से ज़्यादा स्तनपान पर ध्यान दें। बच्चे के जन्म के शुरुआती एक घंटे में ही स्तनपान शुरू करें और जितना हो सके उतने समय तक जारी रखें। अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बच्चे के मांग करने पर स्तनपान कराएं।

2. प्रतिरक्षा

कोविड-19 के डर से अपने बच्चे को अन्य घातक बीमारियों की चपेट में न आने दें। सभी टीके समय पर लगवाएं। अगर लॉकडाउन के कारण बच्चे को टीके नहीं लग पाएं है – तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और टीके लगवाएं।

3. 3.सांस लेने, हाथ और सतह से जुड़े हाइजीन प्रोटोकॉल का पालन करें

जैसे-जैसे महामारी बढ़ती है और ये हफ्ते महीनों में बदल जाते हैं – आगे चल कर भी हाइजीन प्रोटोकॉल का पालन करना न भूले..

अपने हाथों को जितना हो सके साबुन और पानी से 20 सेकंड तक अच्छी तरह से धोएं। ऐसे साबुन का इस्तेमाल करें जो अच्छे से झाग बनता हो। अपने चेहरे को हाथों से न छुएं।

और कभी भी अपने बच्चे को गंदे हाथों से न छुएं। साबुन और पानी से सभी सतहों को अच्छी तरह से साफ करें।

ऐसी नाजुक सतहों को साफ करें जिन्हें अल्कोहल आधारित क्लीनर से धोया नहीं जा सकता है।

जितना जल्दी हो सके गर्म पानी का इस्तेमाल कर कपड़े और चादर को धोएं।

घर के बाहर और अंदर ज़्यादा से ज़्यादा मास्क लगाएं।

4. दांतों का ध्यान रखें

जैसे ही आपके बच्चे के मुंह में नए दांत आने लगें – चावल के दाने जितने टूथपेस्ट के साथ दिन में दो बार नए आए दांतों को ब्रश करें। महामारी के दौरान डेंटिस्ट के पास जाने से बचना चाहिए – लेकिन आप अपने बच्चे के दांतों के बारे में कुछ भी पूछने के लिए अपने डेंटिस्ट के साथ वीडियो चैट कर सकते हैं।

5. सुपर फ़ूड के साथ बच्चे का दूध छुड़वाएं

दूध छुड़ाने के समय एक सुनहरा अवसर है जब आप अपने बच्चे को हेल्दी खाने की आदात डाल सकते हैं जिससे उसका स्वास्थ्य और इम्युनिटी जीवन भर तक बनी रह सकती है। इस मौके को जाने न दें। इस अवसर का पूरा फ़ायदा उठाएं। बच्चे को घर पर बने सुपर फ़ूड सर्व करें। इसका मतलब है कि ताज़ा, प्राकृतिक, बिना मिलावट वाला, स्थानीय रूप से उगाए गए और मौसमी फल और सब्ज़िया सर्व करें। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके बच्चे को पर्याप्त मात्रा में विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट मिल रहे हैं या नहीं, रंगीन फल और सब्जियों की मदद से दूध छुड़ाएं। शुरू से ही ऐसा खाना खाने से बनेगी ही इम्यूनिटी।

6. ताजी हवा में व्यायाम करें

अपने बच्चे के साथ हर दिन थोड़ी देर टहलने के लिए समय निकालें।  जब आप बाहर निकलें, तो सुनिश्चित करें कि अपने मास्क पहने हो। अपने पास अल्कोहल आधारित सैनिटाइजर रखें और हाथों को बार-बार साफ करें। इस बात का ध्यान रखें कि आपका बच्चा दरवाजे के घुंडी या सीढ़ी रेलिंग जैसी सतहों को न छुए। सामाजिक दूरी बनाए रखें। और घर आने के बाद अपने और बच्चे के हाथ साबुन और पानी से धो लें।

7. नींद

सुनिश्चित करें कि आप और आपका बच्चा दोनों पूरी नींद लें। नियमित समय पर सोने और उठने की कोशिश करें।

8. संबंध बनाएं

आप अपने बच्चे की दुनिया हैं। जब भी संभव हो, अपने बच्चे की त्वचा को अपनी त्वचा के पास रखें। अपने बच्चे की आंखों में देखो। अपने बच्चे से बात करें। यह जानकर कि आप उसके साथ हैं, ये आपके बच्चे को मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा रखेंगे। बड़ों से वर्चुअली बात करें और कभी-कभी साथ हसने के लिए भी समय निकालें। हालांकि, ज़्यादा डिवाइस चलाने से बचें।

विश्वास रखें। यह महामारी जल्द ही खत्म हो जाएगी। दिनचर्या बनाने के लिए इस समय का इस्तेमाल करें जो आपके बच्चे को हमेशा स्वस्थ और खुश रखने में आपकी मदद करेगा।

डॉ. देबमिता दत्ता एमबीबीएस, एमडी

द्वारा

डॉ देबमिता दत्ता एक प्रैक्टिसिंग डॉक्टर, पेरेंटिंग कंसल्टेंट और अपनी वेबसाइट डब्ल्यूपीए whatparentsask.com की संस्थापक हैं – वह बैंगलोर में रहती हैं और स्कूलों और कॉर्पोरेट संगठनों में पेरेंटिंग वर्कशॉप आयोजित करती हैं। वह गर्भवती माता-पिताओं के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रसवपूर्व कक्षाएं और हाल में बने माता-पिताओं के लिए शिशु देखभाल की कक्षाएं भी आयोजित करती हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here