मै और मेरे बचपन की बातें याद हैं? खैर, मैं इस दिवाली धमाके के साथ वापस आ गया हूँ!

0
336

shutterstock_106478339

हैलो, #SmartMums! मैं फिर से आ गयी हूँ – आपकी छोटी सी प्यारी गुड़िया जो सब कुछ जानती है-सब कुछ। इसलिए, मैंने अभी भी बात करना नहीं सीखा है। लेकिन मैंने लिखना और टाइप करना सीख लिया है। मेरी उंगलियां बहुत छोटी हैं इसलिए मैं कीबोर्ड पर अपने पैर की उंगलियों का इस्तेमाल करती हूं और मुझे कीबोर्ड को पैर की उंगलियों से चलाना है। असल में मैंने इस साल के दिवाली समारोहों के बारे में कुछ सोचा हुआ है। मैं भूल जाऊँ इससे पहले आप उसे जरूर पढ़ें।

मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि सुप्रीम कोर्ट ने तेज़ आवाज़ करने वाले दिवाली बमों पर रोक लगा दी है। वो सभी ज़ोरदार पॉप(आप नहीं, पापा!), बूम और भड़ाक की आवाज़ें मुझे परेशान कर रहीं थीं … या मुझे इन्हे पटाखे कहना चाहिए! हालांकि मैं यह मानती हूँ। पटाखों पर इस रोक के लिए मेरे सपोर्ट के पीछे एक मकसद छिपा हुआ है। रात में लोगों को जगाना मेरा ही परमाधिकार है। उन पटाखा बनाने वालों को मेरा अधिकार मुझसे छीनने का कोई हक़ नहीं है।

रोशनी के इस त्योहार के बारे में क्या कहूँ, मैं और मेरी उम्र के अन्य बच्चे जो सभी स्ट्रीमर, लालटेन, दीये (हालांकि मुझे उनके पास जाने की अनुमति नहीं है) और सजावट आदि को बहुत पसंद करते हैं। मेरी पहली दिवाली वास्तव में ब्राइट और झकास थी! पूरा घर, एलईडी स्ट्रिंग लाइट से जगमगा उठा। रंग-बिरंगी रंगोली ने फर्श को सजाया। माँ ने मुझे रंगोली से दूर रखने की बहुत कोशिश की लेकिन मैं किसी तरह रंगोली पर चढ़ने में कामयाब रही, और सोचो आगे क्या हुआ? मेरी ड्रेस गंदी ही नहीं हुई। कैसे? क्योंकि रंगोली और मेरी ड्रेस दोनों ही बैंगनी रंग की जो थी!

कलर कोऑर्डिनेटिड कपड़ों की बात करें तो, मैं आपको इस दिवाली फैशन शोडाउन के बारे में बता दूं। मेरी सभी आंटी और अंकल ने त्योहार की ड्रेस को एक नए स्तर पर ले गए हैं! मेरा मतलब है, मुझे पता है कि मेरी बातें कुछ अजीब हैं लेकिन उन्हें मेरी नाजुक आंखों पर थोड़ी दया दिखानी चाहिए थी। चमकीले गुलाबी, हरे, पीले, नीले, मैजेंटा, बैंगनी (और कभी-कभी सभी एक ही पोशाक में!) के साथ चटक नारंगी। उनमें से कुछ में तो कलाइडस्कोप जैसे कॉम्प्लेक्स होते हैं!

पूरा दिन शोर-शराबा, गाल-खींचने और अच्छे खान-पान से भरा रहा, *सिर्फ दूसरों के लिए*। मेरे लिए सिर्फ दूध। अंत में रात हो गई और माँ को सच में लगा कि मैं सो जाऊँगी। क्या! मैं बिलकुल भी नहीं… अपनी खुली आँखों से, मैंने देखा कि मेरे सभी अंकल और आंटी फर्श पर कुछ कार्ड फेंक रहे हैं। और फिर कहीं से भी, वे अपनी जेब से नोट निकालते और कार्ड के साथ फेंक देते। और जैसे-जैसे रात ख़त्म हो रही थी, मेरे कुछ रिश्तेदारों ने अपने सिर पीटना और बाल खींचना शुरू कर दिया – सब कुछ अजीब सा लग रहा था। मुझे नहीं पता कि उन्हें क्या हुआ। मुझे समझ नहीं आता है कि वे दिवाली मना रहे थे या दिवाला निकालने की वजह से रो रहे थे।

उनके बारे में तो पता नहीं लेकिन मेरे लिए यह एक शानदार दिवाली थी! और ऐसा लगता है कि यह एक नया साल भी अच्छा होने वाला है क्योंकि मैंने माँ को https://www.jlmorison.com/shop/ पर कुछ बढ़िया सामान ब्राउज़ करते हुए देखा

ठीक है, मुझे अभी जाना होगा। साथियो इस दिन का आनंद लें! और आपकी दीपावली शुभ हो!

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here