क्या आपको बच्चे की डेंटल केयर के लिए कुछ टिप्स चाहिए? आइए इन बातों पर ध्यान दें।

0
329
बच्चों के लिए डेंटल टिप्स

एक प्यारी टूथलेस गमी मुस्कान किसे पसंद नहीं है? वे गुलाबी छोटे मसूड़े, आपके बच्चे के पहले दांतों की बुनियाद है। इसका मतलब यह है कि आपके बच्चे के दांतों की देखभाल उसके शुरूआती छोटे-छोटे मोती निकलने से पहले ही शुरू कर देनी चाहिए।

मम्मी टाइम के बाद गमी टाइम होना चाहिए!

मम्मी समय को चिपचिपा समय के बाद होना चाहिए!

आप जन्म से ही अपने नन्हे-मुन्नों के मसूड़ों की देखभाल शुरू कर सकती हैं। शुरुआत में, आपको टूथब्रश या टूथपेस्ट की बिल्कुल ज़रूरत नहीं है। इसके बजाय हर बार दूध पिलाने के बाद अपने बच्चे के मसूड़ों को पोंछने के लिए मुलायम कपड़े या महीन कपड़े के टुकड़े का इस्तेमाल करें। इससे आपके बच्चे के मसूड़े रोगाणु मुक्त रहेंगे। ध्यान रहे जो बैक्टीरिया रह जाते हैं वो प्लाक बन जाते हैं – एक खुरदरी परत जो आपके बच्चे के पहले दांतों को कमजोर कर देती है।

दांत कब आएंगे ये हमारी कल्पना से परे है।

दांत कल्पना की तुलना में अजनबी है।

क्या आप जानते हैं कि हर 2000 बच्चों में से एक बच्चा (लगभग) दांत के साथ पैदा होता है? हालाँकि, ज़्यादातर शिशुओं के दांत 6 महीने की उम्र में आने शुरू हो जाते हैं, लेकिन आपके छोटे शिशु के दाँत 3 महीने जितना जल्दी या कुछ मामलों में 14 महीने की देरी से भी दिखाई दे सकते हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है जैसे कि उसके मॉम और डैड के दाँत कब निकलने शुरू हुए थे और आपका बच्चा प्रीमैच्योर (समय से पहले पैदा होने वाला बच्चा) था या नहीं। प्रीमैच्योर बच्चे के दाँत बाकी बच्चों की तुलना में देर से निकलते हैं।

टूथब्रश इस्तेमाल करने की जल्दी न करें!

टूथब्रश जल्दी मत करो!

आपके बच्चे के शुरूआती दांतों को रोज़ टूथब्रश की ज़रूरत नहीं होती है। जैसे मसूड़ों के साथ बताया था, आप अपनी उंगली पर साफ मलमल के कपड़े को लपेटे कर उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। या फिर इससे भी बेहतर, मोरिसन्स बेबी ड्रीम्स टीइंग फिंगर टूथब्रश का इस्तेमाल करें। इस ब्रश https://www.jlmorison.com/shop/morisons-baby-dreams-finger-tooth-brush.html (ऐसी सामग्री से बनी है जो 100% फूड ग्रेड है) माँ की उंगली पर फिट बैठता है। बस इस पर थोड़ा सा टूथपेस्ट लें, और धीरे से इसे अपने बच्चे के दांतों के चारों ओर रगड़ें।

आपका ब्रश हार्ड नहीं होना चाहिए!

आपका ब्रश निर्णय एक ब्रश नहीं होना चाहिए!

जब असल में टूथब्रश इस्तेमाल करने का समय हो, तो ध्यान रखें कि आप नरम नायलॉन ब्रिसल्स, एक छोटे सिर और एक लंबे हैंडल वाला टूथब्रश चुनें। यह आकर्षक, मोरिसन्स बेबी ड्रीम्स टूथब्रश की प्लेफुल रेंज वही हो सकती है जिसके बारे में डॉक्टर ने बताया था  https://www.jlmorison.com/shop/babycare/oralcare/toothbrush.html जैसे ही ब्रिसल्स फैलने लगते हैं, तो अपने बच्चे के टूथब्रश को बदलना न भूलें। हम नहीं चाहते कि अभी से उन नरम मसूड़ों को कोई नुकसान पहुंचे, क्यों है ना?

ब्रश करना: इसकी आदत बना लें।

ब्रश करना: इसे थोड़ी आदत बनाएं

अपने बच्चे के दांतों को दिन में दो बार साफ करना शुरू करें जैसे ही ब्रश करना उसके रूटीन का हिस्सा बन जाता है। जल्दी शुरू करने का फ़ायदा यह है कि आपकी बच्ची को इसकी आदत हो जाएगी और जब वह बोलने (और बहस करने) जितनी थोड़ा बड़ी हो जाएगी, तो दिन में दो बार ब्रश न करने के लिए आपको परेशान नहीं करेगी। आपको खुद अपने बच्चे के दांतों को ब्रश कराने की ज़रूरत है जब तक कि वह ब्रश को ठीक तरह से पकड़ने न लग जाए। ब्रश करते समय उसकी तब तक निगरानी करें जब तक कि वह अपने आप कुल्ला और थूकना न सीख जाए। यह आमतौर पर तब होता है जब एक बच्चा 6 साल का हो जाता है।

फ्लोराइड गाइड

आपका फ्लोराइड गाइड

अगर आपका बच्चा 3 साल से कम उम्र का है, तो उसके लिए फ्लोराइड-फ्री (या लोअर-फ्लोराइड) टूथपेस्ट लेने की ही कोशिश करें। असल में आपके बच्चे के टूथपेस्ट में फ्लोराइड की मात्रा 1,000 पीपीएम (प्रति मिलियन भाग) से ज़्यादा नहीं होनी चाहिए। इसलिए हो सकता है कि आपका बच्चा सामान्य टूथपेस्ट शेयर नहीं कर पाए जो आप बड़े इस्तेमाल करते हैं। लेकिन वह आपके साथ सबसे प्यारी कोलगेट मुस्कान बेशक शेयर कर पाएगी। आपको अपने बच्चे को उसके पहले दांत निकलने के 6 महीने बाद या जब वह एक साल की हो जाए (जो भी पड़ाव पहले आए) तो उसे पीडियाट्रिक डेंटिस्ट के पास ले जाना चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here