प्रसवोत्तर वजन को कम करने के लिए आपकी ख़ास चीट शीट।

0
340

shutterstock_332045687

अपना बेबी बंप दिखाना किसे अच्छा नहीं लगता? >सेलिब्रेटी से लेकर हर उम्र और वर्ग की महिलाएं ऐसा करती हैं। हमें यकीन है कि आपने भी उस दौर का आनंद लिया होगा ! लेकिन इस प्यारी प्रक्रिया का बेकार हिस्सा (कम से कम कई महिलाओं को यही लगता है) यह है कि बच्चा बाहर होता हैं लेकिन ऐसा लगता हैं कि अभी भी अंदर कुछ रह गया हैं! *हम जानते हैं कि दर्द होता है।* इसके बाद आहार, स्लिमिंग गोलियां और जोरदार व्यायाम करना होता है, जो कभी-कभी स्तनपान, कमजोरी और समय व ऊर्जा की कमी के कारण भी मुमकिन नहीं होता है। इसलिए, हमने आपके जीवन को आसान बनाने के बारे में सोचा। बढे हुए वजन को कम करने के लिए हमने छोटी-छोटी तरकीबें इकट्ठी कीं हैं।

  1. आपकी पानी की बोतल कहाँ है?

वाह! हमेशा अपनी पानी की बोतल को संभाल कर रखें? ज़बरदस्त! अब परफेक्ट बनना बंद करो।मज़ाक है! लेकिन गंभीरता से आप यह सोचे कि,अपकी पानी की बोतल एक जिम प्रशिक्षक हैं, जो आपको चलने और जॉगिंग करने के लिए प्रेरित करती है। इसलिए, अगली बार जब आप बेडरूम में हों, तो सुनिश्चित करें कि आपकी पानी की बोतल हॉल में हो, ताकि आप उसके पास चल कर जाए और अपनी प्यास बुझा सकें। इससे आप चिढ़ भी सकते हैं लेकिन जब आप वजन के पैमाने पर पहुंचेंगे तो आप निश्चित रूप से अपने नए जिम प्रशिक्षक को धन्यवाद देंगे।

  1. रील लाइफ खत्म, और रियल लाइफ शुरु।

अध्ययनों से पता चलता है कि, टीवी देखते समय हम अक्सर लगभग 40 % ज्यादा खा लेते हैं, और मन होने पर हम जंक फूड खाने की ज्यादा संभावना रखते हैं। बिना ज्यादा मेहनत किए अपना वजन कम करना चाहते हैं? लंच और डिनर के समय अपना टीवी, कंप्यूटर या स्मार्ट फोन बंद कर दें और केवल अपने खाने पर ध्यान दें। हम यह भी जानते हैं कि वीकेंड पर, जब पति घर पर होते है, तो ये काफी सुकून भरा हो सकता है! लेकिन क्या आप वीकेंड पर टीवी देखते हैं? यह न केवल आपकी आंखों के लिए ही नहीं बल्कि आपके कूल्हों के लिए भी हानिकारक है क्योंकि हमें यह एहसास नहीं होता है कि हम अपने कूल्हों को बहुत ज्यादा आराम दे रहे हैं। इसलिए, खड़े होकर टीवी देखें, और चलते रहें (बेशक, जब आप थके हों तो आराम करें)। इस तरह जितना ज्यादा आप टीवी देखते हैं, उतना ही ज्यादा आपका वजन कम होता है!

  1. शुरु के चार निवालो से भी फर्क पड़ सकता हैं।

यह इतना स्वाभाविक है कि एक स्तनपान कराने वाली मां के रूप में, आपको बार-बार भूख लगेगी। जब हमें बहुत भूख लगती है तो हम बिना रुके खा लेते हैं (कभी-कभी महादेवन की सांसों की तरह भी)। लेकिन यहां आपके दिमाग और पेट को धोखा देने का एक रास्ता है। अपने पहले कुछ निवालो को जल्दी जल्दी खाने के बजाय, उसे धीरे धीरे खाए। भोजन का आनंद लो । भोजन को अच्छे से चबाकर खाएं (आयुर्वेद के अनुसार हमें अपने भोजन को 33 बार चबाकर खाना चाहिए)। यह हमारे मस्तिष्क और पेट को बताता है कि हमें भूख नहीं है और हम उतनी मात्रा में नहीं खाएंगे, जितना हम भूख से मर रहे हैं।

  1. नीला आपका पसंदीदा रंग क्यों होने वाला हैं?

क्या आपने कभी सोचा है कि फास्ट फूड ब्रांड, लाल और पीले जैसे रंगों का ज्यादा इस्तेमाल क्यों करते हैं? रंग मनोविज्ञान बताते है कि रंग हमारे मूड, व्यवहार और हमारी पसंद को काफी हद तक प्रभावित कर सकते हैं। लाल और पीला हमें बहुत कुछ खाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। अध्ययनों से पता चला है कि नीली प्लेट में खाने से आपकी भूख कम हो सकती है। नीला रंग पसंद नहीं है? इसे आजमाएं, यह बहुत जल्दी ही आपका पसंदीदा रंग हो जाएगा। हम पर विश्वास करें: यह जादू है।

  1. आप, अपने बच्चे के सबसे अच्छे दोस्त बनें।

एक माँ के रुप में कार्य करे। अपने बच्चों के साथ खेलें – रेंगें, कूदें, नाचें और साथ में गाएं! उनके खिलौने उठाना और फिर से इसे दोहराएं।

तो, अपने आप को बेकार की डाइट और सख्त व्यायाम से परेशान मत करो। बस अपने आस पास देखिए,सारा व्यायाम वहीँ है। वजन कम करने के लिए अगर आपके पास अपने खुद के कुछ मजेदार आइडिया हैं तो हमें कमेंट में बताएं।

निर्देश साइट:

http://www.today.com/health/small-tips-big-weight-loss-results-1D80232963

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here